जब मासूम पर झपट पड़ा तेंदुआ, तब भाई को बचाने खुद उसपर कवच की तरह लेट गई राखी, अब मिलेगा बहादुरी का अवॉर्ड

उत्तराखंड l कहते है कि रक्षाबंधन पर भाई अपनी बहन को बचाने का वादा करता है और बहन से कलाई पर राखी बंधवाता है l लेकिन आज उत्तराखंड पौड़ी जनपद के बीरोंखाल क्षेत्र में एक बहन ने अपनी जान पर खेलकर अपने भाई की रक्षा की और तेंदुआ से जा भिड़ी l

दरअसल उत्तराखंड पौड़ी जनपद के बीरोंखाल की 11 साल की राखी अपने चार साल के भाई राघव के साथ बाहर खेल रही थी l इसी दौरान तेंदुआ आ गया और बच्चे पर झपटने लगा l इसी बीच भाई को बचाने के लिए राखी उसके ऊपर कवच की तरह लेट गई l तेंदुआ बच्चे को ज्यादा नुकसान नहीं पहुंचा पाया लेकिन उसने बच्ची को बुरी तरह घायल कर दिया l

राखी के भाई के सिर में तीन टांके आए हैं जबकि गंभीर रूप से घायल राखी को पहले पौड़ी के अस्पताल में दाखिल कराया गया जहां हालत गंभीर होने पर दिल्ली रैफर कर दिया गया l लेकिन दिल्ली पहुंचने पर एक सरकारी अस्पताल ने राखी को भर्ती करने से इनकार कर दिया l तब एक मंत्री की पहल पर राखी को राम मनोहर लोहिया अस्पताल में दाखिल कराया गया l

मिली जानकारी अनुसार, राखी की पीठ, सिर और गर्दन पर तेंदुए के पंजों के गहरे निशान है और बच्ची बुरी तरह जख्मी है l उसका इलाज चल रहा है l राज्य सरकार की तरफ से बच्ची का नाम राष्ट्रपति बहादुरी अवार्ड के लिए भेजे जाने की बात चल रही है l