संस्कृति विभाग की गलती उजागर, स्वतंत्रता सेनानी स्व. कमल नारायण की जयंती को 9 की जगह लिखा 19 अक्टूबर

रायपुर । स्वतंत्रता संग्राम सेनानी स्वर्गीय कमल नारायण शर्मा की जयंती में उनकी प्रतिमा की उपेक्षा होने से नाराज निगम सभापति को निगम ने जवाब तलब किया है। निगम का जवाब है कि शर्मा जी के स्मृति पटल पर संस्कृति विभाग ने जो तारीख लिखी है वो गलत है। इसलिए स्टॉफ भ्रमित हो गया। जिसके चलते माल्यार्पण में विलंब हुआ।

निगम का कहना है कि संस्कृति विभाग ने निगम कैलेंडर में उनकी जयंती की तारीख 9 अक्टूबर की जगह 19 अक्टूबर अंकित की गई है।

संस्कृति विभाग को नोटिस जारी

वहीं निगम कैलेंडर में स्वतंत्रता संग्राम सेनानी स्वर्गीय कमल नारायण शर्मा की जयंती को गलत लिखने पर संस्कृति विभाग के नोटिस जारी किया गया है। नोटिस का जवाब देते हुए संस्कृति विभाग ने कहा है कि सही तारीख 9 अक्टूबर ही है। प्रतिमा के पटल पर सुधार किया जाएगा।

आपको बता दें कि स्वतंत्रता संग्राम सेनानी स्वर्गीय कमल नारायण शर्मा की प्रतिमा की उपेक्षा होने पर निगम सभापति, नेता प्रतिपक्ष और कई भाजपा पार्षदों के साथ धरने पर बैठ गए। उनका यह भी आरोप है कि उनकी जयंती पर नगर निगम की तरफ से कोई कार्यक्रम नहीं किया गया।