सीएम भूपेश दूसरे बजट की पेश संस्कृत की श्लोक से शुरु कर की ये प्रमुख घोषणाएं पढ़िए खबर…

रायपुर। आज सीएम भूपेश बघेल दूसरा बजट पेश करते करने से पहले संस्कृत के श्लोक सर्वे भवन्तु सुखिनः सर्वे सन्तु निरामया, सर्वे भद्राणि पश्चयन्तु श्लोक से शुरुआत करते हुए भाषण की शुरुआत किया। सीएम ने कहा आधुनिकता और परंपरा के साम्य हमारे विकास का बुनियाद मॉडल है। सीएम ने इस बजट को लेकर कहा आर्थिक सर्वेक्षण के मुताबिक 2018-19 में राज्य के सकल घरेलू उत्पाद में 7.06 की वृद्धि संभावित है, प्रति व्यक्ति आय पिछले साल 96 हजार 878 की तुलना में 98 हजार 281 रुपये का अनुमान है, 6.35 फीसदी अधिक है, 82 लाख मीट्रिक टन से ज्यादा धान खरीदा जा चुका है।

राज्य सरकार की नीतियों से स्वयं के संसाधन 11 फीसदी की दर से बढ़ रही है, अब तक 17 हजार किसानो का ऋण माफ किया जा चुका है, पिछले साल की प्रति व्यक्ति आय 96878 की तुलना में 98281 रुपये का अनुमान है, जो 6.35 फ़ीसदी अधिक है, 4 लाख हितग्रहियों को सुपोषण अभियान से लाभ हुआ है, आंगनबाड़ी केंद्रों में 25 करोड़ का प्रावधान है, महतारी जतन योजना में 31 करोड़ का प्रावधान, स्वास्थ्य योजना में 5 योजनाओं को शुरू किया गया, डॉ खूबचंद बघेल स्वास्थ्य योजना में 5 लाख तक का लाभ दिया जाएगा, मुख्यमंत्री स्वास्थ्य योजना में प्रति व्यक्ति 20 लाख तक का प्रावधान है।

डे भवन को स्वामी विवेकानंद स्मृति संस्थान के तौर पर तैयार किया जाएगा, लक्षण रहित मलेरिया का बस्तर मुक्त मलेरिया योजना के तहत इलाज किया जा रहा है, 2020 में 2 साल पूरा करने वाले शिक्षाकर्मियों का संविलयन होगा,16 हजार शेष शिक्षाकर्मियों का 1 जुलाई 2020 से संविलियन किया जाएगा।

3 इंजीनियरिंग कॉलेजों में रोबोटिक्स लैब की स्थापना, 9 पॉलिटेक्निक कॉलेज के लिए 9 करोड़, दिव्यांजनों के लिए 5 करोड़ का प्रावधान, ठेका मजदूर, ठेला और हमालों के लिए 15 करोड़ का प्रावधान। इलेक्ट्रिक वाहन, रोबोटिक्स, एथेनॉल निर्माण, एयरक्राफ्ट रिपेयरिंग के क्षेत्र में सरकार काम करेगी।

स्थानीय उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए शासकीय खरीदी CSIDC से की जाएगी, कलाकारों को प्रोत्साहन देने शुरू होगी मुख्यमंत्री लोक कलाकार प्रोत्साहन योजना 25 करोड़ का प्रावधान, अमृत मिशन के लिए 300 करोड़ का प्रावधान, नया रायपुर में 95 एकड़ में नया विधायक विश्राम गृह बनाया जाएगा।