मनेन्द्रगढ़ के सांस्कृतिक भवन में राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव का हुआ, आयोजन…

मनेन्द्रगढ़ : राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव 2019 का आयोजन सांस्कृतिक भवन मनेन्द्रगढ़ में किया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में राज्यमंत्री गुलाब कमरो, विशिष्ट अतिथि के रूप में नपाध्यक्ष राजकुमार केशरवानी, जनपद सदस्य शैलजा सिंह, एस डी एम आर पी चौहान, अधिवक्ता राम नरेश पटेल, राजेश साहू, पार्षद झगराखण्ड दददी बाई मंच पर उपस्थित थे। पहले अतिथियों ने मां सरस्वती व महात्मा गांघी की प्रतिमा के समक्ष माल्यार्पण कर आयोजन की शुरूआत की।


फिर छत्तीसगढ़ स्वागत गीत के माध्यम से अतिथियों का स्वागत कलाकारों द्वारा किया गया। इस अवसर पर एस डी एम आर पी चौहान ने आयोजन की प्रशंसा करते हुए कहा कि ऐसे आयोजन से हमारी परम्परा और मजबूत होगी। उन्होंने उपस्थित जनों से ऐसे आयोजनो में बढ़ चढ़ कर भाग लेने की अपील की। नपाध्यक्ष राजकुमार केशरवानी ने इस अवसर पर कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री भुपेश बघेल की प्रशंसा करते हुए कहा कि प्रदेश की परंपरा को और मजबूत बनाने के लिए जो प्रयास किया है।

उसकी जितनी प्रशंशा की जाय वह कम है। हमारी परम्परा को सहेजने के लिए जो प्रयास उनके द्वारा किया जा रहा है। उसका प्रभाव भी अब दिखने लगा है।
इस अवसर पर मुख्य अतिथि गुलाब कमरो ने अपने उद्बोधन में कहा कि मंच के माध्यम से हमे बहुत सीखने को मिलता है। सिर्फ बताने के लिए नहीं बल्कि हम यहां कुछ सीखने के लिए आते हैं। प्रदेश में हमारी सरकार निरन्तर किसानों की चिंता करती है।

पूरे प्रदेश में पहली बार हरेली के त्योहार पर अवकाश घोषित किया गया है। प्रदेश के मुखिया हमारी संस्कृति को बचाने के लिए निरन्तर प्रयासरत है। हम अपने लोगों का सम्मान करना जानते हैं। हमारी सरकार छत्तीसगढ़ की परम्परा को आगे बढ़ाने के लिए निरन्तर कार्य कर रही है। आयोजन की शुरुआत अरपा पैरी के धार, महानदी है अपार राजगीत से हुई। आयोजन का कुशल संचालन संजय श्रीवास्तव ने किया।