पड़ोसी राज्य ओडिशा में पुलिया नहीं होने से एक गर्भवती महिला को प्रसव पीड़ा के दौरान खाट के सहारे उफनती नदी रेंगते हुए पार कर अस्पताल ले जाया गया, ओडिसा सरकार के विकास के दावे निकले खोखले

ओड़िशा : ओड़िशा की नवीन पट्नायक सरकार के विकास के दावे चाहे जितने भी हो लेकिन वहां की जनता आज भी नाले पार करने के लिए नाव या फिर ट्यूव का सहारा लेने को मजबूर हैं। तजा मामला अभी हाल का ही हैए जहां एक गर्भवती महिला को प्रसव पीड़ा होने पर अस्पताल लेजाने के लिए उसके घर वालों को खटिया पर लाद कर उफनते हुए नाले को पार करना पड़ा। क्योँकि गर्भवती महिला को प्रसव पीड़ा शुरू हुई तो बुलावे पर एम्बुलेंस तो आगई, लेकिन भरी बरसात में उफनती हुई नदी को पार नहीं कर पाई। विकास का दम्भ भरने वाली पट्नायक सरकार पुलिया तो छोड़ो रपटा तक नहीं बनवा पाई है।

आजादी के 70 वर्ष बीत गए लेकिन हमारे देश की सरकारें मीडिया का कैमरा देखते ही सिर्फ उपलब्धियां ही गिनवा रही हैं।

दरअसल मामला ओड़िसा के रायगढ़ा जिले के मुनिगुड़ा ब्लॉक के इच्छापुर गांव का है, जहां गर्भवती महिला सुस्मिता सूज को प्रसव पीड़ा होने पर उसके घर वालों को खाट पर लाद कर उफनती हुई नदी को रेंगते हुए पार करना पड़ा। प्रसव पीड़ा से कराह रही महिला को इसकी वजह से घंटों असहनीय दर्द सहना पड़ा। आखिरकार अस्पताल पहुंचने पर महिला ने एक स्वस्थ बच्चे को जन्म दिया है। जहां जच्चा-बच्चा दोनों स्वस्थ हैं।