निकाय चुनावों में कांग्रेस पिछली जीत के तोड़ेगी रिकार्ड, सरकार की जनहितकारी योजनाएं और पिछले 10 महीने के किए गए कार्य बनेंगे इसके बड़े आधार – सुशील आनंद शुक्ला

रायपुर । नगरीय निकाय चुनावों के लिये नगर निगमों, नगर पालिकाओं और नगर पंचायतों में आरक्षण की प्रक्रिया संपन्न होने के बाद कांग्रेस ने दावा किया है l कांग्रेस ने इन स्थानीय निकाय के चुनावों में न सिर्फ अपनी पिछली जीत दोहरायेगी। अबकी बार और अधिक निकाय क्षेत्रों में कांग्रेस के प्रत्याशी चुनाव जीत कर आयेंगे। प्रदेश कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि पिछले चुनाव में कांग्रेस ने विपक्ष में रहते हुये 6 नगर निगम, 20 नगर पालिका और 52 नगर पंचायतों में जीत हासिल किया था। तब कांग्रेस विपक्ष में थी आज राज्य में कांग्रेस की सरकार है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की कांग्रेस सरकार की जनहितकारी योजनायें और पिछले 10 महीने के किये गये कार्य आगामी निकाय चुनावों में कांग्रेस की विजय के बड़े आधार बनेंगे। कांग्रेस सरकार ने 400 यूनिट तक बिजली का बिल आधा किया है, किरायेदारों को अपना खुद का घर देने की योजना शुरू की है। सरकारी भूमि में काबिज लोगों को स्थायी पट्टा देने का काम कांग्रेस सरकार कर रही है। शहरी क्षेत्रों में व्यवसाय कर रहे व्यापारियों को राहत देने गुमास्ता बनाने की प्रक्रिया आजीवन कर दी गयी है। राज्य में निवासरत सभी परिवारों को 35 किलो चावल देने की योजना कांग्रेस सरकार ने शुरू किया है। स्कूलों, कालेजों में शिक्षकों की भर्ती शुरू करने के साथ सरकारी नौकरी के दरवाजे खोले गये। सभी वर्गो को सरकारी नौकरी में आनुपातिक प्रतिनिधित्व देने के लिये आरक्षण की व्यवस्था की गयी। लोगों को राहत देने भूमि के डायवर्सन के नियम सरल किये गये 5 डिसमिल से कम के प्लाटों को भाजपा सरकार द्वारा बंद की गयी रजिस्ट्रियों को शुरू करवा दिया गया। आम अदमी को राहत देने जमीनों की कलेक्टर गाईड लाईन की दरों में 30 फीसदी की कमी की गयी है। किसानों का कर्जा माफ करने और धान की खरीदी 2500 रू. प्रतिक्विंटल करने से किसानों के साथ-साथ राज्य की अर्थव्यवस्था पर भी सकारात्मक प्रभाव पड़ा है। देश में फैली आर्थिक मंदी से बहुत हद तक राज्य के लोगों को राहत है।

प्रदेश कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि राज्य की कांग्रेस सरकार ने पिछले 10 महिनों में राज्य के लोगों को सशक्तिकरण और उनकी परेशानियों को दूर करने वाले निर्णय लिये है। सरकार के कामों को व्यापक जनसमर्थन मिल रहा है। जनता अपने निकाय क्षेत्रों के बेहतर विकास के लिये कांग्रेस प्रत्याशियों को चुनेगी।