आतंकी हमले की सूचना निकली फर्जी, कॉल करने वाला शख्स सेना का रिटायर्ड जवान निकला, बेंगलुरु एसपी ने की पुष्टि, जवान को किया गया गिरफ्तार

बेंगलुरु | 8 तटीय राज्यों में आतंकी हमले की साजिश रचने संबंधी कॉल फर्जी निकला है| बेंगलुरु एसपी ने कहा, ‘यह एक झूठी कॉल थी| 65 साल के लॉरी ड्राइवर का नाम सुंदर मूर्ति है और वह एक सेवानिवृत्त सेना का जवान है| उसे फर्जी कॉल करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है|’ सुंदर मूर्ति ने शुक्रवार को तमिलनाडु, महाराष्ट्र, कर्नाटक, केरल, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, गोवा और पुडुचेरी में आतंकी हमले के खतरे को लेकर कर्नाटक पुलिस को इनपुट दिया था| उसने बेंगलुरु पुलिस को फोन कर दावा किया है कि उसके पास सूचना है कि आतंकी 8 राज्यों में हमलों को अंजाम देने की साजिश रच रहे हैं| डीजीपी ने पत्र में लिखा, ‘एक शख्स जिसने दावा किया है कि वह एक लॉरी ड्राइवर है। उसने कंट्रोल रुम में फोन करके बताया कि उसके पास सूचना है कि आठ राज्यों को आतंकी निशाना बना सकते हैं। यह आतंकी हमले ज्यादातर ट्रेन में हो सकते हैं। उसका दावा है कि तमिलनाडु के रामनाथपुरम में इस समय 19 आतंकी मौजूद हैं। कृपया कानून व्यवस्था को बनाए रखने और किसी भी अप्रिय घटना को होने से रोकने के लिए तत्काल एहतियातन उपाय उठाए जाएं।’ हालांकि यह खबर फर्जी निकली। इस मामले पर बंगलूरू ग्रामीण के पुलिस अधीक्षक का बयान आया है। उन्होंने कहा, ‘यह एक झूठी कॉल थी। 65 साल के लॉरी ड्राइवर का नाम सुंदर मूर्ति है और वह एक सेवानिवृत्त सेना का जवान है। उसे फर्जी कॉल करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।’